नईदिल्ली ,16 फरवरी (आरएनएस)। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद जवाबी कार्रवाई पर मंथन के लिए संसद परिसर में सर्वदलीय बैठक चल रही है.  गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हो रही इस बैठक में सरकार सभी दलों को पुलवामा हमले और उसके बाद उठाए जाने वाले कदम के बारे में जानकारी देगी.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई सुरक्षा मामलों की समिति की बैठक के बाद सर्वदलीय बैठक बुलाने का फैसला लिया गया. कहा जा रहा है कि मोदी सरकार इस हमले के बाद उठाए जाने वाले किसी भी कदम से पहले विपक्षी दलों को भी विश्वास में लेना चाहती है.
इससे पहले आतंकी हमले के बाद कोई सर्वदलीय बैठक सितंबर 2016 में हुई थी. ये बैठक एलओसी पर हुए सर्जकिल स्ट्राइक से ठीक पहले हुई थी. हलांकि तब इस बैठक में विपक्षी दलों की राय नहीं ली गई थी, बल्कि उन्हें सिर्फ अगले कदम की जानकारी दी गई थी.
वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुलवामा हमले को लेकर शुक्रवार कोकहा कि वो सेना के साथ खड़े हैं. राहुल गांधी ने कहा पूरा का पूरा विपक्ष, देश और सरकार के साथ खड़ा है. राहुल ने कहा कि आतंकवाद देश को बांटने, तोडऩे की कोशिश करता है.
इससे पहले शुक्रवार को गृह मंत्री राजनाथ सिंह दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिला में सुरक्षाबलों के काफिले पर हुए हमले के बाद की स्थिति का जायजा लेने के लिए गए. पुलवामा हमले में शहीद जवानों के शव श्रीनगर से दिल्ली लाए गए . पीएम मोदी ने जवानों को श्रद्धांजलि दी. जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए विपक्ष के कई नेताओं के साथ कई केंद्रीय मंत्री भी एयरपोर्ट पर मौजूद थे.
गुरुवार को 3.20 बजे आईईडी विस्फोट से सीआरपीएफ के काफिले की एक बस को निशाना बनाया गया. इस हमले में 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गये. पुलवामा के अवंतीपोरा के गोरीपोरा इलाके में सीआपीएफ के काफिले पर आतंकियों ने आईईडी से हमला किया और फिर ताबड़तोड़ फायरिंग की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.