दुनिया

मंगोलियाई राष्ट्रपति ने भारत को विशेष उपहार में दिया घोड़ा, रक्षा मंत्री ने नाम दिया ‘तेजस’

  •  टोक्यो में 8 सितंबर को भारत-जापान ‘टू प्लस टू’ मंत्रिस्तरीय वार्ता में भाग लेंगे
  • – जापानी समकक्ष के साथ अलग से द्विपक्षीय वार्ता करेंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पूरी होने पर मंगोलिया की ओर से भारत को विशेष उपहार के रूप में एक घोड़ा दिया गया है जिसका नाम उन्होंने ‘तेजस’ दिया है। अब वे अगली दो दिवसीय यात्रा पर मंगोलिया से जापान के लिए रवाना होंगे। वह आठ सितंबर को जापान के साथ ‘टू प्लस टू’ वार्ता में शामिल होंगे। राजनाथ सिंह विभिन्न क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को और मजबूत करने के लिए अपने जापानी समकक्ष के साथ अलग से द्विपक्षीय वार्ता करेंगे।

मंगोलिया की यात्रा के आखिरी दिन रक्षा मंत्री ने उलानबटार में राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय में भारत सरकार की सहायता से निर्मित साइबर सुरक्षा प्रशिक्षण केंद्र का उद्घाटन किया। अधिकारियों ने रक्षा मंत्री को केंद्र में सुविधाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने केंद्र में प्रशिक्षित मंगोलियाई सशस्त्र बलों के कर्मियों के साथ भी बातचीत की। राजनाथ सिंह ने मंगोलिया के शिक्षा और विज्ञान मंत्री के साथ भारत-मंगोलिया मैत्री स्कूल की आधारशिला रखी, जिसे भारत सरकार की सहायता से स्थापित किया जा रहा है।

मंगोलिया ने भारत को एक रणनीतिक भागीदार और ‘आध्यात्मिक पड़ोसी’ घोषित किया है। यात्रा पूरी होने पर राजनाथ सिंह को मंगोलिया के राष्ट्रपति यू. खुरेलसुख की ओर से विशेष उपहार के तौर पर एक घोड़ा दिया, जिसका नाम उन्होंने ‘तेजस’ दिया है। इस बारे में रक्षामंत्री ने ट्वीट किया, मंगोलिया में हमारे खास दोस्तों की ओर से एक खास तोहफा। मैंने इस शानदार सुंदरता का नाम ‘तेजस’ रखा है। धन्यवाद, राष्ट्रपति खुरेलसुख। धन्यवाद मंगोलिया।

मंगोलिया की अपनी यात्रा पूरी होने पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह दो दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर आज जापान के लिए रवाना होंगे। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आठ और नौ सितंबर को जापान में होंगे। वह विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ 08 सितंबर को टोक्यो में दूसरी भारत-जापान ‘टू प्लस टू’ मंत्रिस्तरीय वार्ता में भाग लेंगे। जापानी पक्ष का प्रतिनिधित्व रक्षा मंत्री यासुकाजू हमदा और विदेश मंत्री योशिमासा हयाशी करेंगे। इस वार्ता में जापान के साथ सभी क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग की समीक्षा की जाएगी।

भारत और जापान के बीच इस साल राजनयिक संबंधों के 70 वर्ष पूरे हो गए हैं। रक्षा मंत्री टोक्यो में भारतीय दूतावास की ओर से आयोजित एक सामुदायिक कार्यक्रम में भी भाग लेंगे और जापान में भारतीय प्रवासियों के साथ बातचीत भी करेंगे। राजनाथ सिंह इसके अलावा विभिन्न क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को और मजबूत करने के लिए अपने जापानी समकक्ष के साथ अलग से द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। यात्रा के दौरान उनका जापान के प्रधान मंत्री फुमियो किशिदा से भी मिलने का कार्यक्रम है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
%d bloggers like this: