Latest Newsओपिनियनलखनऊ

कोरोना मामले  पर बेबी डॉल कनिका कपूर ने तोड़ी चुप्पी बताया आखिर कैसे बड़ा था पूरा मामला ,मेरे बारे में लोगों को गलत जानकारी दी गई 

कोरोना मामले  पर बेबी डॉल कनिका कपूर ने तोड़ी चुप्पी बताया आखिर कैसे बढा था पूरा मामला ,मेरे बारे में लोगों को गलत जानकारी दी गई 


लखनऊ | कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद सभी के निशाने पर आईं सिंगर कनिका कपूर ने रविवार को अपनी चुप्पी तोड़ी। सोशल मीडिया पर उन्होंने अपना पक्ष रखा। कनिका को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद पीजीआई में भर्ती किया गया था। वहां से डिस्चार्ज होने के बाद अब जाकर उन्होंने इस मामले में अपना पक्ष रखा है।

मेरे बारें में कई बनाई गईं कहानियां कनिका कपूर ने आज अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘मुझे पता है कि मेरे बारें में कई कहानियां बनाई गई हैं। कुछ तो इस वजह से ज्यादा बढ़ी क्योंकि मैं अब तक चुप रही। मैं इसलिए चुप नहीं थी क्योंकि मैं गलत थी बल्कि मुझे पता था लोगों को गलत जानकारी दी गई। मैं बस इंतजार कर रही थी कि लोग खुद सच को समझें। मैं अपने परिवार, दोस्त और सपॉर्ट करने वालों का धन्यवाद करती हूं, जिन्होंने ऐसे वक्त में मुझे समझा। मैं उम्मीद और प्रार्थना करती हूं कि आप सभी इस टाइम में सेफ होंगे।’

किसी व्यक्ति पर नकारात्मकता डालने से वास्तविकता नहीं बदलती
कनिका ने कहा- मैं यूके से मुंबई 10 मार्च को आई थी। अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर मेरी स्क्रीनिंग भी हुई थी। उस समय तक इस मामले पर कोई एडवाइजरी जारी नहीं हुई थी। एडवाइजरी 18 मार्च को जारी हुई थी। इसलिए मुझे क्वारंटीन में जाने की कोई जरूरत नहीं थी। मुझमें बीमारी का कोई लक्षण भी नहीं था, इसलिए भी मैंने खुद को क्वारंटीन नहीं किया।

11 मार्च को मैं अपने घर लखनऊ आई। घरेलू फ्लाइट में स्क्रीनिंग की कोई व्यवस्था नहीं थी। 14 और 15 मार्च को मैं दोस्तों और रिश्तेदारों की पार्टी और डिनर में शामिल हुई। इस दौरान मैंने खुद कोई पार्टी नहीं दी और मैं पूरी तरह से सामान्य थी।

17 और 18 मार्च को मुझे कोरोना के लक्षण महसूस हुए। 19 मार्च को मेरा टेस्ट हुआ और 20 को रिपोर्ट में मुझे पॉजिटिव बताया गया। इसके बाद मैं अस्पताल गई तथा तीन निगेटिव रिपोर्ट के बाद वहां से मुझे छुट्टी दी गई। तबसे मैं 21 दिन के क्वारंटीन के लिए घर पर ही हूं।

मैं विशेष रूप से डॉक्टर और नर्स को धन्यवाद देना चाहती हूं, जिन्होंने उस कड़े समय में मेरा ध्यान रखा। मुझे उम्मीद है कि इस मामले में सभी ईमानदारी और संवेदनशीलता बरतेंगे। किसी व्यक्ति पर नकारात्मकता डालने से वास्तविकता नहीं बदलती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
%d bloggers like this: